बहराइच- पंचायत चुनाव की ड्यूटी में लगे दर्जनों शिक्षकों की कोविड से मौत

बहराइच-
पंचायत चुनाव की ड्यूटी में लगे दर्जनों शिक्षकों की कोविड से मौत

उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा कोरोना से पंचायत चुनाव के दौरान हुई मौत के आंकड़े जारी करने के बाद मृतक शिक्षकों के परिवारों में आक्रोश पनप उठा है
एक तरफ सरकारी आंकड़े केवल 3 शिक्षकों की मौत बता रहे हैं जबकि जब इसकी जमीनी हकीकत देखी गई तो यह आंकड़े सरकारी आंकड़ों से कहीं बहुत ज्यादा है
केवल जनपद बहराइच की अगर हम बात करें तो पंचायत चुनाव की ड्यूटी में लगे तकरीबन 17 शिक्षकों की मौत कोविड से हुई है जबकि 7 सहायक शिक्षक शिक्षामित्रों की मौत हुई है
यह हम नहीं कह रहे हैं बल्कि शिक्षकों के कोविड पॉजीटिव,मृतक प्रमाणपत्र, और पंचायत डियूटी चार्ट चीख चीख कर खुद हकीकत बयां कर रहे हैं/
पंचायत चुनाव की ड्यूटी में लगे कुछ शिक्षकों के ड्यूटी चार्ट से लेकर कोरोना पॉजीटिव होने और उनके मौत के बाद मृतक सर्टिफिकेट भी मिले हैं जिसको देखने के बाद यह साफ अंदाजा लगाया जा सकता है कि जिन शिक्षकों की ड्यूटी पंचायत चुनाव में मतदान केंद्रों एवं मतगणना स्थलों पर लगाई गई है उनकी मौत कोरोना की वजह से हुई है
मृतक शिक्षकों के परिजन भी चीख चीख कर यह बता रहे हैं की शिक्षकों की मौत पंचायत चुनाव में जबरन ड्यूटी लगाने की वजह से संक्रमित होकर हुई है
अब देखना यह होगा कि सरकार के द्वारा जारी किए गए सरकारी आंकड़े सही है या जिन दस्तावेजों के आधार पर शिक्षकों की ड्यूटी पंचायत चुनाव में लगाई गई और उनके संक्रमित होने के बाद जो दस्तावेज अस्पतालों से प्राप्त हुए और शिक्षकों की मौत के बाद जो मृतक सर्टिफिकेट प्रशासन के द्वारा उन्हें प्राप्त हुए वह कितने हद तक सही हैं

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

[responsive-slider id=1864]

Related Articles

Close
Avatar