चित्रकूट न्यूज़/पाठा क्षेत्र में लो बोल्टेज की समस्या को लेकर अनिल प्रधान ने डीएम को सौंपा ग्यापन/चित्रकूट से News11 इंडिया TV से रामगोपाल कुशवाहा की रिपोर्ट

आज पाठा क्षेत्र में लो बोल्टेज की समस्या को लेकर काम को शीघ्रता से पूरा कराने के लिए अनिल प्रधान (जिला पंचायत सदस्य/बुन्देलखण्ड कार्य समिति) ने डीएम को ग्यापन सौंपा

News11 इंडिया TV
रामगोपाल कर्वी चित्रकूट

आज दिनाँक 11 जनवरी 2021 को कलेक्ट्रेट परिसर में जिलाधिकारी महोदय से मिलकर 33/11केवी विद्युत उपकेंद्र ग्राम कैलहा के सब स्टेशन का निर्माण कार्य पूरा होने के लगभग 2 साल से 33 हजार की विद्युत लाइन जो सरैया से कैलहा विद्युत उपकेन्द्र तक जानी थी पूरी लाइन बनने के बाद लगभग 2 वर्ष पूर्व बहिलपुरवा के पास वन विभाग द्वारा 60 खम्भे की तार खम्भे सहित एनओसी न होने की बात कहकर तोड़ दी गई थी तब से काम बंद है एनओसी की प्रक्रिया लंवित है ,माध्यमिक कार्य खण्ड विद्युत बांदा की निष्क्रियता व अधीक्षण अभियंता विद्युत माध्यमिक द्वारा कोई रुचि न लेने,एनओसी का मामला दो साल से वन विभाग व माद्यमिक कार्य खण्ड के बीच चल रहा है मजबूरी में पाठा क्षेत्र को तीन हिस्सो में बाँटकर 2 साल से विद्युत मिल रही है अर्थात बिल पूरे महीने का और ट्यूवेल मुश्किल से महीने में 10 दिन भी नही चल पा रहे थे
बैकल्पित तौर पर एव जर्जर तार को बदलने हेतु बुंदेलखंड किसान विकाश समिति के अथक प्रयास से एव लम्बी लड़ाई के बाद न्यू कलेक्ट्रेट से देवांगना होते हुए ग्राम बरुई तक रैकून डालने हेतु सितंबर में 32 लाख स्वीकृति हुआ,काम नही प्रारम्भ हुआ तो 20 नवम्बर 2020 को आंदोलन हुआ ,प्रसाशन ने मुकदमा दर्ज किया, वादा किया गया एक हफ्ते में कार्य प्रारंभ होगा,एक हफ्ते में कार्य प्रारंभ हुआ बहुत धीमी गति से,फिर सैकड़ो पाठावासियो के साथ अधीक्षण अभियंता का घेराव किया,बात हुई ठेकेदार व पाठावासियो से,उसने कहा उसके पास जितनी लेबर है उतने से काम करवाएंगे,बुंदेलखंड किसान विकाश समिति ने खुद पैसे देकर लेबर लगाया तब काम शुरू हुआ 10 तारीख तक काम चला, 2 दिन का काम शेष,ठेकेदार की लेबर मकर संक्रांति की छुट्टी पर चली गई ,17 तक मे कार्य पूरा हो जाएगा ,लो वोल्टेज की समस्या व जर्जर तार से छुट्टी की उम्मीद
अब एक नया पेंच -जानकारी में आया है कि पाठावासियो का ड्रीम प्रोजेक्ट जिसके लिये 4 साल लगातार संघर्ष किया 3 बार अनसन किया ,जिसकी अत्यधिक जरूरत है पाठावासियो को, ऊपर आगरा स्तर पर यह सहमति बन रही है कि कार्य की लागत बढ़ने 3 से 7 करोड़ और पाठा क्षेत्र में विद्युत उपकेंद्र की जरूरत नही है कि बात कहकर उक्त विद्युत उपकेंद्र प्रोजेक्ट को बन्द करने की तैयारी हो रही है
आज इसी बात को लेकर जिलाधिकारी से भेंट की है,इस प्रोजेक्ट के लिये बहुत मेहनत किया है हम सभी पाठावासियो ने इसको किसी हाल में नही जाने देंगे,चाहे जितना बड़ा आंदोलन करना पड़े या जेल जाना पड़े मुकदमा हो पर ये प्रोजेक्ट बनेगा किसी भी कीमत पर,कोशिश प्रारम्भ, जल्द ही होगा बहुत बड़ा जनांदोलन
क्यंकि अगर यह विद्युत उपकेंद्र नही बन पाया तो अगले साल से किसी के निजी ट्यूवेल नही चल पाएंगे,ट्यूवेल की बात छोड़िए पीने की पानी की समस्या हो जाएगी
भैरा तेरा पानी गजब होई जय गगरी न फूटे चाहे खसम मर जाये
ऎसा नही होने देंगे हम सभी
33/11 केवी विद्युत उपकेंद्र कैलहा बनेगा और इस साल बनकर जनता के लिये चालू होगा ,हम सब लड़ेंगे
पाठावासियो के सहयोग से
जिन लोगों का दिमाक न सही हो और न सुनाई दे रहा हो तो इलाज करा लें जो चाहते हैं कि विद्युत उपकेंद्र न पाए वो अपना भृम दूर कर लें ,विद्युत उपकेंद्र का कार्य पूरा होगा और हर हाल में होगा

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

[responsive-slider id=1864]

Related Articles

Close
Avatar