प्रधानमंत्री कार्यालय को गुमराह कर रहे डीपीआरओ* चित्रकूट पंचायती राज विभाग चित्रकूट द्वारा कोविड-19 में पल्सआक्सीमीटर थर्मलस्कैनर शासन के निर्धारित रेट से अलग ग्राम पंचायतों में हुए खरीद धांधली कमीशन बाजी भ्रष्टाचार को लेकर शिकायतकर्ता बंशी लाल जिलाध्यक्ष सूचना का अधिकार एसोसिएशन चित्रकूट ने सीबीआई जांच कराने हेतु शिकायती पत्र भेज कर प्रधानमंत्री कार्यालय में अनुरोध किया था।जांच को उत्तर प्रदेश में पंचायती राज विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों को सौंपी गई निदेशक पंचायती राज विभाग लखनऊ द्वारा जिला पंचायत राज अधिकारी संजय पांडे को जांच सौंप गई।भ्रष्टाचार के मामले को वस्तु स्थिति का जवाब न देकर पंचायती राज नियमों की दुहाई देते हुए जिला पंचायत राज अधिकारी संजय पांडे द्वारा मनगढ़ंत आख्या लगाकर भ्रमित एवं गुमराह कर भ्रष्टाचार पर पर्दा डालकर मामले का निस्तारण कर दिया गया है।आखिर जिस जनपद में पंचायती राज विभाग के अधिकारी कमीशन बाजी किया है कैसे निष्पक्ष जांच संभव है। कोरोना कॉल में आम जनता जहां एक तरफ आर्थिक संकट से पीड़ा महसूस कर रही/news11 इंडिया TV के लिए बंसी लाल साहू की खास रिपोर्ट

*प्रधानमंत्री कार्यालय को गुमराह कर रहे डीपीआरओ*
चित्रकूट पंचायती राज विभाग चित्रकूट द्वारा कोविड-19 में पल्सआक्सीमीटर थर्मलस्कैनर शासन के निर्धारित रेट से अलग ग्राम पंचायतों में हुए खरीद धांधली कमीशन बाजी भ्रष्टाचार को लेकर शिकायतकर्ता बंशी लाल जिलाध्यक्ष सूचना का अधिकार एसोसिएशन चित्रकूट ने सीबीआई जांच कराने हेतु शिकायती पत्र भेज कर प्रधानमंत्री कार्यालय में अनुरोध किया था।जांच को उत्तर प्रदेश में पंचायती राज विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों को सौंपी गई निदेशक पंचायती राज विभाग लखनऊ द्वारा जिला पंचायत राज अधिकारी संजय पांडे को जांच सौंप गई।भ्रष्टाचार के मामले को वस्तु स्थिति का जवाब न देकर पंचायती राज नियमों की दुहाई देते हुए जिला पंचायत राज अधिकारी संजय पांडे द्वारा मनगढ़ंत आख्या लगाकर भ्रमित एवं गुमराह कर भ्रष्टाचार पर पर्दा डालकर मामले का निस्तारण कर दिया गया है।आखिर जिस जनपद में पंचायती राज विभाग के अधिकारी कमीशन बाजी किया है कैसे निष्पक्ष जांच संभव है। कोरोना कॉल में आम जनता जहां एक तरफ आर्थिक संकट से पीड़ा महसूस कर रही थी।दूसरी तरफ पंचायती राज विभाग चित्रकूट द्वारा कोरोना काल के दौरान बड़े पैमाने पर मालामाल होने के उद्देश्य से शासन के निर्धारित रेट से अलग थर्मलस्केनर,पल्सऑक्सीमीटर की खरीद कराई गई तथा मनमाने तरीके से ग्राम पंचायतों को दबाव में लेकर संबंधित फार्म को भुगतान कराया गया। शासकीय धन का बंदर बांट करने के उद्देश्य से जमकर पंचायती राज के जिम्मेदारों के रहमों करम पर कमीशन बाजी की गई।वहीं अधिकांश ग्राम पंचायतों में बगैर खरीद कर आए ही भुगतान किया गया। सूचना का अधिकार एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष बंशी लाल ने बताया जल्द ही पीएमओ कार्यालय में एवं उत्तर प्रदेश के ईमानदार मुख्यमंत्री माननीय योगी आदित्यनाथ से मिलकर विस्तार से पंचायती राज विभाग द्वारा किए गए भ्रष्टाचार कमीशन बाजी के क्रियाकलपों को उजागर करेंगे।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

[responsive-slider id=1864]

Related Articles

Close
Avatar