दाल रोटी खाएंगे,विंध्य प्रदेश बनाएंगे,विंध्य के सम्मान में नारायण त्रिपाठी मैदान में

*दाल रोटी खाएंगे,विंध्य प्रदेश बनाएंगे,विंध्य के सम्मान में नारायण त्रिपाठी मैदान में*
ये आवाज थी उस आम जन मानष की जिसका प्रदेश कभी हुआ करता था आज उसे अपना मूल स्वरुप पाने के लिए जद्दोजहद करनी पड़ रही है। ये आवाज है उन विंध्य के वासियो की जो विलय होने के पश्चात भी मूल सुविधाओ की बाट जोह रहा है। ये आवाज है उस जनता जनार्दन की जिसे सत्ता के गलियारों में बैठे लोगो ने ठगा है धोखा दिया है लेकिन सत्तासीन यह जान ले जब जनता सड़को पर निकलती है तो अपना अधिकार लेकर रहती है परिणाम चाहे जो हो।
उसी आम जन मानष की आवाज बन मैहर विधायक नारायण त्रिपाठी अपना सबकुछ विंध्य की जन मानष को समर्पित करते हुए मेरा विंध्य मुझे लौटा दो की आवाज को पंख लगाने निकले है। नारायण ने आज अपने वक्तव्य में स्पष्ट कर दिया की लड़ाई आरपार की होगी और तबतक चलेगी जबतक विंध्य को अलग प्रदेश का दर्जा नहीं मिलता। उन्होंने कहा की ये तो अभी सुरुआत है अभी मैं पूरे विंध्य के एक एक जिले में एक एक तहसील में जाना है और जनता जनार्दन से इस मुहीम को समर्थन प्राप्त करना है उन्होंने कहा कि वे कभी राजनीति में मुँह छिपाने वाला काम नहीं करते उन्हें आगे आने वाली अपनी पीढ़ी को जबाब देना है कि आखिर राजनीति से उन्होंने क्षेत्र को दिया क्या? मैहर विधायक एक प्रश्न के जबाब में कहा कि विंध्यप्रदेश कोई नेता नहीं बना सकता बल्कि जनता बनाएगी क्योकि जनता नेता बनाती है नेता से जनता नहीं बल्कि जनता से नेता है इसलिए कौन साथ में है कौन नहीं हम आगे बढ़ते रहे कारवाँ बनता जायेगा।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

[responsive-slider id=1864]

Related Articles

Close
Avatar