फिल्मों के लिए साउण्ड रिकॉर्डिंग और साउण्ड डिजाइनिंग का प्रशिक्षण लेने एफटीआईआई पहुँचे पंकज देवा

*फिल्मों में साउण्ड डिजाइन करेगा माटी का लाल*

(फिल्मों के लिए साउण्ड रिकॉर्डिंग और साउण्ड डिजाइनिंग का प्रशिक्षण लेने एफटीआईआई पहुँचे पंकज देवा)

*खागाः* कहते हैं यदि इरादों में दम और हाथों में कौशल हो तो दुनिया के किसी भी कोने में बैठकर आप अखिल विश्व को अपना लोहा मनवा सकते हैं। इस बात को सच करके दिखाया है ऐरायाँ विकासखण्ड के गाँव फतेहपुर-टेकारी के साधारण से किसान परिवार में जन्में पंकज देवा ने बचपन से ही प्रदर्शनकारी कलाओं और फ़िल्मों में रुचि रखने वाले पंकज अब मुख्यधारा के भारतीय और गैर-भारतीय सिनेमा के लिए साउण्ड डिजाइन करके उन्हें रिकॉर्ड करने जा रहे हैं। इसके लिए पंकज को दुनिया के अग्रणी फिल्म स्कूलों में से एक सत्यजीत रे फिल्म और टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इण्डिया- कोलकाता के डिपार्टमेंट ऑफ साउण्ड रिकॉर्डिंग एण्ड डिजाइन में दाखिला मिला है।
पंकज के डिपार्टमेंट में लगान, पा, ओम जय जगदीश, भेजा फ्राई और रा.वन जैसी फ़िल्मों के साउण्ड डिजाइनर तपस नायक, काई पो चे, केसरी, जिन्दगी ना मिलेगी दोबारा और अंग्रेजी मीडियम समेत पचास से अधिक फिल्मों का साउण्ड डिजाइन कर चुके संजय चतुर्वेदी के साथ-साथ हितेश चौरसिया, पार्थ बर्मन और अविजित रॉय जैसे मशहूर साउण्ड डिज़ाइनर उनके एलुमनस सीनियर हैं।
पंकज के मित्र और एनसीसी के दिनों में उनके सीनियर अंडर ऑफिसर रहे चर्चित लेखक व नाटककार अमित राजपूत बताते हैं कि “पंकज आज जो कुछ भी हैं वो अपनी लगनशीलता, अनुशासन और आज्ञापालन की बदौलत हैं। वो अत्यधिक जिज्ञासु और विचलित न होने वाले हैं। मैं उनके संघर्षों और मेहनत का चश्मदीद हूँ। मुझे भरोसा है कि सिनेमा के क्षेत्र में पंकज नये कीर्तिमान गढ़कर खागा का नाम रोशन करेंगे।”
मालूम हो कि नगर के शुकदेव इण्टर कॉलेज से 12वीं तक की शिक्षा प्राप्त करके पंकज देवा प्रयागराज चले गये और आगे की शिक्षा-दीक्षा उन्होंने वहीं से हासिल की। इस दौरान वे एनएसडियन निर्देशक डॉ. विधु खरे दास के निर्देशन में रंगमंच से भी जुड़े रहे। वर्तमान में पंकज प्रयागराज के जानेमाने कैरियर प्लस कोचिंग इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर हैं। पंकज देवा एफटीआईआई की अपनी इस सफलता का श्रेय निर्देशक डॉ. विधु खरे, नाटककार अमित राजपूत और इलाहाबाद विश्वविद्यालय के फ़िल्म एण्ड थियेटर डिपार्टमेंट से जुड़े जय प्रकाश (जेपी) से मिले मार्गदर्शन को मानते हैं।
पंकज देवा की इस सफलता से खागा तहसील का नाम रोशन हुआ है, जिसके बाद उन्हें एसडीएम प्रह्लाद सिंह, क्षेत्रीय विधायक कृष्णा पासवान, बीडीओ मुकेश सिंह, साहित्यकार आचार्य ब्रजमोहन पाण्डेय, मण्डी सचिव दीपक कुमार, अभिनेता गुड्डन शिवरानी, शायर जफर इकबाल, साहित्यकार खालिक जाफरी और शुकदेव इण्टर कॉलेज के प्रधानाचार्य कैप्टन संजय कुमार समेत तमाम गणमान्यों ने बधाई दी।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

[responsive-slider id=1864]

Related Articles

Close
Avatar