भ्रष्टाचार के भीषण प्रकोप में ग्राम पंचायत कनकोटा* *प्रधानी चली गई फिर भी प्रधान प्रतिनिधि सचिव से मिलकर करा रहा कार्य*

*भ्रष्टाचार के भीषण प्रकोप में ग्राम पंचायत कनकोटा*

*प्रधानी चली गई फिर भी प्रधान प्रतिनिधि सचिव से मिलकर करा रहा कार्य*

राजापुर/चित्रकूट – राजापुर तहसील क्षेत्र अंतर्गत ग्राम पंचायत कनकोटा में विकास कार्यों में जमकर भ्रष्टाचार किया गया हैं वहीं गांव के कुछ ग्रामीणों ने प्रधानमंत्री आवास योजना में ग्राम प्रधान प्रतिनिधि रहे मनीष कुमार निषाद व ग्राम पंचायत अधिकारी जगदीश सिंह पटेल पर 10-10 हजार रुपये लेने का आरोप लगाया है ।
आपको बता दें कि ग्राम पंचायत कनकोटा में ग्राम प्रधान प्रतिनिधि मनीष कुमार निषाद द्वारा आज भी सचिव जगदीश सिंह पटेल की मिलीभगत से मेडबंदी का कार्य कराया जा रहा है जबकि सरकार द्वारा जारी शासनादेश के आदेश के अनुसार 25 दिसंबर 2020 से सभी ग्राम प्रधानों का कार्यकाल समाप्त हो चुका है और शासन द्वारा आदेश जारी किया गया हैं कि प्रत्येक ग्राम पंचायत में कार्यरत ग्राम पंचायत अधिकारी की देखरेख में ग्राम पंचायतों में विकास कार्य कराए जाएंगे । वहीं कनकोटा में कार्यरत सचिव जगदीश सिंह पटेल की मिलीभगत से शासनादेश के शासन की धज्जियां उड़ाई जा रही है जिसके चलते ग्राम विकास अधिकारी द्वारा अपने चहेते प्रधान प्रतिनिधि मनीष कुमार द्वारा राजू निषाद, सुंदर हरिजन ,कड़कू हरिजन आदि के खेतों में मेड़बंदी का कार्य उसी की देखरेख में कराया जा रहा है । वहीं प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थी दुवासे पुत्र बोधन ,अमृतलाल पुत्र भैरेन्या , लोटन पुत्र कलुआ ,सुमित्रा बेवा बृजभूषण आदि पात्रों ने आरोप लगाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना की पहली किस्त 40000 हम लोगों को मिल चुकी है जिसमें ग्राम प्रधान प्रतिनिधि मनीष कुमार ने 10-10 हजार रुपए ले लिया है और कहा कि सचिन साहब को देना पड़ेगा तभी आप लोगो की दूसरी किस्त आएगी ग्राम प्रधान प्रतिनिधि द्वारा सभी लाभार्थियों के बने कच्चे झोपड़ी के घर गिरवा दिए गए यह कहकर कि जल्द ही दूसरी किस्त भी मिल जाएगी अगर झोपड़ी नही रहेगी तो जल्द ही सर्वे हो जाएगा और दूसरी क़िस्त तत्काल आ जायेगी जिससे आज भी कुछ लाभार्थी खुले आसमान में रहने को मजबूर हैं ।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

[responsive-slider id=1864]

Related Articles

Close
Avatar