नई दिल्‍ली. उत्तराखंड के चमोली जिले में रविवार को नंदा देवी ग्लेशियर का एक हिस्सा टूट जाने के कारण ऋषिगंगा घाटी में अचानक विकराल बाढ़ आ गई/अजय शुक्ला up head.

नई दिल्‍ली. उत्तराखंड (Uttarakhand) के चमोली जिले (Chamoli) में रविवार को नंदा देवी ग्लेशियर (Chamoli Glacier) का एक हिस्सा टूट जाने के कारण ऋषिगंगा घाटी में अचानक विकराल बाढ़ आ गई. इससे वहां दो पनबिजली परियोजनाओं में काम कर रहे कुछ लोगों की मौत हो गई और 170 से ज्यादा लापता हैं. इस पूरी घटना में अब तक कम से कम 14 लोगों के मारे जाने की बात सामन आ रही है. इनमें से अधिकांश के शव भी बरामद कर लिए गए हैं.

गंगा की सहायक नदियों धौली गंगा, ऋषि गंगा और अलकनंदा में बाढ़ से उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में दहशत फैल गयी और बड़े पैमाने पर तबाही हुई. एनटीपीसी की तपोवन-विष्णुगाड पनबिजली परियोजना और ऋषिगंगा परियोजना पनबिजली परियोजना को बड़ा नुकसान हुआ तथा उनके कई श्रमिक सुरंग में फंस गए. तपोवन परियोजना की एक सुरंग में फंसे सभी 16 मजदूरों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है जबकि 100 से अधिक मजदूर लापता हैं

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

[responsive-slider id=1864]

Related Articles

Close
Avatar