नगर विकास मंत्री पहुंचे कानपुर, विकास कार्यो की ,कि समीक्षा बैठक कानपुर। उ0प्र0 के नगर विकास मंत्री आषुतोष टण्डन ने कानपुर

नगर विकास मंत्री पहुंचे कानपुर, विकास कार्यो की ,कि समीक्षा बैठक
कानपुर। उ0प्र0 के नगर विकास मंत्री आषुतोष टण्डन ने कानपुर नगर निगम के विकास कार्यो की समीक्षा की तथा पूर्व में हो चुके कार्य का लोकापर्ण भी किया। इस मौके पर उ0प्र0 संयुक्त वाहन चालक कर्मचारी संघ ने कैबिनेट मंत्री को ज्ञापन देकर कर्मचारियों के हितो के लिये उसने अपनी मांग रखी जिस पर उन्होंने जल्द कार्यवाही किये जाने का आष्वासन दिया।
उ0प्र0 के नगर विकास एवं गरीबी उनमूलन मंत्री आषुतोष टण्डन का काफिल सुबह 11 बजे सर्किट हाउस पहुंचा जहां उन्होंने सत्ताधारी दल के विधायको से मुलाकात की तथा नगर आयुक्त अक्षय त्रिपाठी ने उनको पुष्प गुच्छ भेंट का उनका स्वागत किया। उन्होंने नगर निगम के विकास कार्यो की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि नगर निगम एक स्वायत्षासी संस्था है तथा जो भी निर्णय होते है वह सदन के द्वारा होते है तथा निर्माण कार्य वह स्वयं कराते है राज्य व केन्द्र वित्त से उनको सहायता मिलती है और जहां पर भी उनको आवष्यकता पडती है उनको पूरा सहयोग किया जाता है। नगर विकास मंत्री आशुतोष टण्डन ने नगर निगम के सभागार में समीक्षा बैठक कर विकास कार्यो का विवरण लिया। जिसमें मार्ग प्रकाश विभाग, उद्यान विभाग, सड़क निर्माण कार्य, क्षतिग्रस्त गलियों की मरम्मत का कार्य, जोन-02 वार्ड-47 के अन्तर्गत गिरिजेश्वर मन्दिर से पंकज द्विवेदी के मकान तक सड़क का हाटमिक्स प्लांट द्वारा सुधार कार्य, आर0सी0सी0 नाले का निर्माण कार्य की समीक्षा की तथा 5467.35 करोड के विकास कार्यो का लोकापर्ण किया। इसके साथ ही 2586.30 करोड के कार्य का शिलान्यास किया। इसी क्रम में उ0प्र0 संयुक्त वाहन चालक कर्मचारी संघ के प्रदेष अध्यक्ष विनोद कुमार ने उनसे मुलाकात कर उन्हें कर्मचारी हितो के लिये ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन के माध्यम से उन्होंने नगर विकास मंत्री आषुतोष टण्डन से मांग की है किसमस्त नगर निकयो में विभागीये स्वीकृति उपरान्त विभिन्न पदो पर कार्य कर रहे आउटसोर्सिंग कर्मचारियों को वेतन संषोधित किया जाए। आउटसोर्सिंग के कर्मचारियों में कम्प्यूटर आॅपरेटर की न्यूनतम मजदूरी 20 हजार तथा श्रमिक कर्मचारियों को 15 हजार वेतन दिया जाये ताकि वह अपने परिवार का पालन पोषण कर सके। नगर निगम के कर्मचारियों को समान्य कर से मुक्त रखा जाये, पुरानी पेंषन को बहाल किये जाने हेतु संस्तुति सहित भारत सरकार को अग्रसारित कराते हुए लागू कराया जाये। इसके साथ ही कोविड-19 की महामारी के समय से कानपुर नगर गिनम में तैनात डा0 अजय संख्वार नगर स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा किये गये भ्रष्टाचार की जांच करायी जाये। उन्होंने षिकायती पत्र में आरोप लगाते हुए कहा है कि मार्च,2020 से शुरू हुए कोविड-19 महामारी के दौरान जब पूरा देष अस्त व्यस्त था उस समय कानपुर नगर निगम मे तैनात डा0 अजय संख्वार को भ्रष्टाचार के कारण हटा दिया गया था ,बावजूद इसके शासन से जुगाड लगा कर उन्होंने पुनः पद प्राप्त कर लिया। ज्ञापन में कहा गया है कि कोविड-19 महामारी के दौरान कानपुर नगर निगम में चार डाक्टरों ने अपनी तैनाती करा रखी हुई थी जिसमें प्रर्मिला निरंजन, डा0 चन्द्रषेखर, डा0 अमित सिंह व डा0 अजय संख्वार है। जो कार्य एक डा0 द्वारा सम्पादित किया जा सकता है उसके लिये एक ही स्थान पर चार डाक्टरों की तैनाती पूर्ण भ्रष्टाचार को उजागर करती नजर आ रही है। उन्होंने मांग की है इन सभी बिन्दुओं पर संज्ञान लेते हुए तत्काल कार्यवाही करे ताकि कर्मचारी हितो की रक्षा हो सके तथा भ्रष्टाचारी अधिकारियों को सबक मिल सके।

नगर विकास मंत्री के कार्यक्रम में पार्षदों का ड्रामा
नगर विकास के आगमन पर कांग्रेसी पार्षद को कुर्सी न मिलने पर वह जमीन पर बैठ गये। नगर निगम प्रांगण में हो रहे है प्रोग्राम में पार्षदो ने जमकर कर हंगामा शुरू कर दिया। हंगामा होते देख अधिकारियों ने समझाने का काफी प्रयास किया,लेकिन पार्षद अपनी जिद पर अडे रहे और नगर विकास मंत्री से खराब व्यवस्था के लिये षिकायत करने की बात कही।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

[responsive-slider id=1864]

Related Articles

Close
Avatar