चित्रकूट- मंदाकिनी सफाई के नामपर हो रही लीपापोती, घाटों की सीढ़ियों में गंदगी का साम्राज्य

मंदाकिनी सफाई के नामपर हो रही लीपापोती, घाटों की सीढ़ियों में गंदगी का साम्राज्य

चित्रकूट l गंदगी से कराह रही मंदाकिनी नदी की सफाई का अभियान सिंचाई विभाग ने शुरू करा दिया है l कर्वी और रामघाट में तीन नावें लगाई गई हैं लेकिन सफाई के नामपर यह लीपापोती से ज्यादा कुछ नहीं है l अभी भी पन्नालाल घाट कीचड़ से पटा पड़ा है, सीढ़ियों में घुटनों मलबा और कीचड़ है लेकिन जिम्मेदार आंखों में पट्टी बांधे हैं l
बुन्देली सेना के जिलाध्यक्ष अजीत सिंह ने बताया कि सिंचाई विभाग ने पिछले 4 दिनों से तीन नावें मंदाकिनी की सफाई में लगा रखी हैं l नाव में डंडे के सहारे चोई और मलबा निकाला जा रहा है जबकि नदी में डुबकी लगाकर नीचे से घास निकालने की जरूरत है l जब तक चोई और घास नीचे से नहीं निकाली जाती तो अगले 15 दिन में फिर घास नदी में सतह तक आ जायेगी l सफाई के नामपर धन की बर्बादी हो रही है लेकिन जमीनी धरातल पर सफाई खानापूर्ति से ज्यादा कुछ नहीं है l हर बार विभाग उसी ढर्रे से सफाई अभियान चला रहा है l नवनिर्मित घाटों में नयागांव के रपटा से लेकर बूड़े हनुमानजी मंदिर तक गंदगी का साम्राज्य है, सीढ़ियों में घुटनों मलबा और गंदगी है l घाटों की युद्धस्तर पर सफाई कराने की जरूरत है ताकि घाट लोगों के प्रयोग में आ सकें l पन्नालाल घाट के हाल सबसे ज्यादा बेहाल हैं, यहां सीढ़ियों में कीचड़ और मलबा ट्रकों में होगा l
बुन्देली सेना ने जिलाधिकारी शेषमणि पांडेय से मांग की है कि सफाई अभियान को ऊपर-ऊपर न कराकर तलहटी से कराया जाय l साथ ही घाटों की सीढ़ियों को पूरी तरह कीचड़ और मलबे से मुक्त कराया जाय

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

[responsive-slider id=1864]

Related Articles

Close
Avatar