नई दिल्ली. दिल्ली से लेकर आगरा और दिल्ली के रास्ते संगम, प्रयागराज तक शुरु होने वाले वॉटर-वे का सपना अब पूरा नहीं हो सकेगा

नई दिल्ली. दिल्ली से लेकर आगरा और दिल्ली के रास्ते संगम, प्रयागराज तक शुरु होने वाले वॉटर-वे का सपना अब पूरा नहीं हो सकेगा. लोग वॉटर वे के जरिए दिल्ली आने-जाने का मजा नहीं ले सकेंगे. जनवरी 2020 में तैयार हुई इस योजना को ना बोल दिया गया है. वॉटर वे (Water-way) की इस योजना को व्यवहारिक नहीं बताया गया है. गौरतलब रहे सड़क पर से वाहनों का लोड कम करने और पानी के रास्ते सस्ते ट्रांसपोर्ट (Transport) को बढ़ावा देने के लिए वॉटर वे शुरु करने की घोषणा की गई थी. केन्द्र की कैबिनेट में इस परियोजना को मंजूरी भी दे दी गई थी.

हाल ही में संसद में उठे एक सवाल का जवाब देते हुए जलमार्ग राज्यमंत्री मनसुख मांडविया ने बताया कि वज़ीराबाद से हरियाणा के रास्ते यमुना नदी में आगरा और संगम प्रयागराज तक वॉटर वे विकसित करने की योजना थी. लेकिन जब इस मामले में डीपीआर तैयार हुई थी इस योजना को व्यवाहरिक नहीं बताया गया है. यह डीपीआर तकनीकी और आर्थिक पहलूओं को ध्यान में रखते हुए तैयार की गई है.

कैबिनेट में यह गिनाए गए थे वॉटर वे के फायदे
कैबिनेट में जब इस योजना को मंजूरी दी गई थी तो इसके कई फायदे उस वक्त बताए गए थे. कहा गया था कि जितनी ऊर्जा खर्च करके सड़क के रास्ते 150 किलो, रेल के रास्ते 500 किलो सामान ले जाया जा सकता है, उतनी ही ऊर्जा से पानी के रास्ते 4000 किलोग्राम सामान ले जाया जा सकता है.

Alert: ताजमहल, आगरा किला बचाने को यमुना नदी में शुरु होंगे यह 5 काम, संसद में उठा मामला

इसी तरह से एक लीटर ईंधन से सड़क के रास्ते जहां 24 किलोमीटर जाया जा सकता है, वहीं रेल के जरिए 85 किमी, लेकिन पानी के जरिए इतने ही ईंधन से 105 किमी का सफर तय किया जा सकता है.

यही नहीं, अगर वॉटर वे विकसित करना हो तो उस पर सड़क या रेल लाइन बिछाने के मुकाबले काफी कम खर्च आता है. यही नहीं, सड़कों पर जाम कम लगेगा और दुर्घटनाएं भी कम होंगी. यही नहीं, अभी सड़कों से या रेल के जरिए अगर ट्रांसपोर्ट चलता है तो बीच-बीच में सड़क और रेल लाइनों के मरम्मत की जरूरत होती है लेकिन वॉटर वे में इस तरह का खर्च भी नहीं होता. इन्हीं सब फायदों को देखते हुए सरकार दिल्ली से आगरा और संगम, प्रयागराज तक वॉटर वे विकसित करना चाहती थी.

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

[responsive-slider id=1864]

Related Articles

Close
Avatar