रायबरेली. किसान आंदोलन के दम पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) उत्‍तर प्रदेश में संगठन को मजबूत करने में जुटी हैं, लेकिन इस बीच उनकी मां सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) के संसदीय क्षेत्र रायबरेली से कांग्रेस में बगावत की सुलग रही चिंगारी राख से बाहर आने लगी है. संगठन में नए लोगों को तरजीह और राजीव-इंदिरा के समय के कांग्रेसियों को साइड लाइन किए जाने को लेकर कांग्रेसी गुरुवार को मुखर हो गए. वहीं, कांग्रेस की बागी विधायक अदिति सिंह (MLA Aditi Singh) के बयान के बाद रायबरेली की सियासत में भूचाल आ गया है. विधायक अदिति सिंह ने पार्टी की कार्यकारी अध्यक्ष एवं रायबरेली सांसद सोनिया गांधी पर तंज कसते हुए उनके अपने संसदीय क्षेत्र रायबरेली में गैरमौजूदगी पर सवाल उठाए हैं. विधायक अदिति सिंह ने कहा कि पिछले पंचवर्षीय कार्यकाल में चुनाव जीतने के बाद सोनिया गांधी सिर्फ दो बार रायबरेली आई थीं. वहीं 2019 के चुनाव में नामांकन के बाद वह सिर्फ एक बार ही रायबरेली आई हैं. जनता ने ही उन्हें चुनाव जितवाया है. उन्‍होंने यह भी कहा कि जो भी अच्छा काम करेगा मैं उसकी तारीफ करूंगी. केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का बड़ा दावा आपको बता दें कि 26 दिसम्बर को अमेठी के गौरीगंज स्थित नवोदय विद्यालय में मंच और मीडिया के माध्यम से केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने आक्रमक तेवर अपनाते हुए कहा था कि जब से मैंने अमेठी से लड़ने का दुस्साहस किया तब से लेकर आज तक ऐसा कोई क्षण नहीं गया जब अपमानित नहीं हुई हूं. ऐसा कोई क्षण नहीं गया है जब कांग्रेस ने प्रताड़ित करने का कोई प्रयास न किया हो. इसके साथ केंद्रीय मंत्री ने कहा,’लेकिन हम संकल्पबद्ध हैं कि भाजपा के कार्यकर्ता केवल अमेठी में ही नहीं पूरे देश में पूरी निष्ठा के साथ काम करेंगे. मुझे उकसाया गया था साल 2014 में, अपमानित किया गया था और मैंने तब एक वचन दिया था लोगों को कि मैं अमेठी की सीट जीतकर रहूंगी 19 में. प्रभु की असीम कृपा रही कि मेरे मुख से निकला हुआ वो शब्द साकार हुआ, सफल हुआ. इसके साथ केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा,’कांग्रेस अगर प्रताड़ित करती रहेगी तो अमेठी का कार्यकर्ता सुनिश्चित करेगा कि साल 2024 में लोकसभा के चुनाव में रायबरेली की सीट पर भारतीय जनता पार्टी का कमल खिलेगा. स्मृति के बयान और बागी विधायक अदिति के इस तेवर से रायबरेली में सोनिया की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं. भाजपा से अदिति सिंह की नजदीकी और… बता दें की रायबरेली की विधायक अदिति सिंह ने पिछले दिनों कहा था कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मेरे राजनीतिक गुरु हैं, उनसे मेरी बात हो गयी है. उन्होंने जांच के बाद न्याय का आश्वासन दिया है. उन्‍होंने सिविल लाइंस में दुकानदारों से जमीन खाली कराने के मुद्दे पर सीएम से बातचीत की थी.

रायबरेली. किसान आंदोलन के दम पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) उत्‍तर प्रदेश में संगठन को मजबूत करने में जुटी हैं, लेकिन इस बीच उनकी मां सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) के संसदीय क्षेत्र रायबरेली से कांग्रेस में बगावत की सुलग रही चिंगारी राख से बाहर आने लगी है. संगठन में नए लोगों को तरजीह और राजीव-इंदिरा के समय के कांग्रेसियों को साइड लाइन किए जाने को लेकर कांग्रेसी गुरुवार को मुखर हो गए. वहीं, कांग्रेस की बागी विधायक अदिति सिंह (MLA Aditi Singh) के बयान के बाद रायबरेली की सियासत में भूचाल आ गया है. विधायक अदिति सिंह ने पार्टी की कार्यकारी अध्यक्ष एवं रायबरेली सांसद सोनिया गांधी पर तंज कसते हुए उनके अपने संसदीय क्षेत्र रायबरेली में गैरमौजूदगी पर सवाल उठाए हैं.

विधायक अदिति सिंह ने कहा कि पिछले पंचवर्षीय कार्यकाल में चुनाव जीतने के बाद सोनिया गांधी सिर्फ दो बार रायबरेली आई थीं. वहीं 2019 के चुनाव में नामांकन के बाद वह सिर्फ एक बार ही रायबरेली आई हैं. जनता ने ही उन्हें चुनाव जितवाया है. उन्‍होंने यह भी कहा कि जो भी अच्छा काम करेगा मैं उसकी तारीफ करूंगी.

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का बड़ा दावा
आपको बता दें कि 26 दिसम्बर को अमेठी के गौरीगंज स्थित नवोदय विद्यालय में मंच और मीडिया के माध्यम से केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने आक्रमक तेवर अपनाते हुए कहा था कि जब से मैंने अमेठी से लड़ने का दुस्साहस किया तब से लेकर आज तक ऐसा कोई क्षण नहीं गया जब अपमानित नहीं हुई हूं. ऐसा कोई क्षण नहीं गया है जब कांग्रेस ने प्रताड़ित करने का कोई प्रयास न किया हो. इसके साथ केंद्रीय मंत्री ने कहा,’लेकिन हम संकल्पबद्ध हैं कि भाजपा के कार्यकर्ता केवल अमेठी में ही नहीं पूरे देश में पूरी निष्ठा के साथ काम करेंगे. मुझे उकसाया गया था साल 2014 में, अपमानित किया गया था और मैंने तब एक वचन दिया था लोगों को कि मैं अमेठी की सीट जीतकर रहूंगी 19 में. प्रभु की असीम कृपा रही कि मेरे मुख से निकला हुआ वो शब्द साकार हुआ, सफल हुआ.

इसके साथ केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा,’कांग्रेस अगर प्रताड़ित करती रहेगी तो अमेठी का कार्यकर्ता सुनिश्चित करेगा कि साल 2024 में लोकसभा के चुनाव में रायबरेली की सीट पर भारतीय जनता पार्टी का कमल खिलेगा. स्मृति के बयान और बागी विधायक अदिति के इस तेवर से रायबरेली में सोनिया की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं.

भाजपा से अदिति सिंह की नजदीकी और…
बता दें की रायबरेली की विधायक अदिति सिंह ने पिछले दिनों कहा था कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मेरे राजनीतिक गुरु हैं, उनसे मेरी बात हो गयी है. उन्होंने जांच के बाद न्याय का आश्वासन दिया है. उन्‍होंने सिविल लाइंस में दुकानदारों से जमीन खाली कराने के मुद्दे पर सीएम से बातचीत की थी. करने में जुटी हैं, लेकिन इस बीच उनकी मां सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) के संसदीय क्षेत्र रायबरेली से कांग्रेस में बगावत की सुलग रही चिंगारी राख से बाहर आने लगी है. संगठन में नए लोगों को तरजीह और राजीव-इंदिरा के समय के कांग्रेसियों को साइड लाइन किए जाने को लेकर कांग्रेसी गुरुवार को मुखर हो गए. वहीं, कांग्रेस की बागी विधायक अदिति सिंह (MLA Aditi Singh) के बयान के बाद रायबरेली की सियासत में भूचाल आ गया है. विधायक अदिति सिंह ने पार्टी की कार्यकारी अध्यक्ष एवं रायबरेली सांसद सोनिया गांधी पर तंज कसते हुए उनके अपने संसदीय क्षेत्र रायबरेली में गैरमौजूदगी पर सवाल उठाए हैं.

विधायक अदिति सिंह ने कहा कि पिछले पंचवर्षीय कार्यकाल में चुनाव जीतने के बाद सोनिया गांधी सिर्फ दो बार रायबरेली आई थीं. वहीं 2019 के चुनाव में नामांकन के बाद वह सिर्फ एक बार ही रायबरेली आई हैं. जनता ने ही उन्हें चुनाव जितवाया है. उन्‍होंने यह भी कहा कि जो भी अच्छा काम करेगा मैं उसकी तारीफ करूंगी.

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का बड़ा दावा
आपको बता दें कि 26 दिसम्बर को अमेठी के गौरीगंज स्थित नवोदय विद्यालय में मंच और मीडिया के माध्यम से केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने आक्रमक तेवर अपनाते हुए कहा था कि जब से मैंने अमेठी से लड़ने का दुस्साहस किया तब से लेकर आज तक ऐसा कोई क्षण नहीं गया जब अपमानित नहीं हुई हूं. ऐसा कोई क्षण नहीं गया है जब कांग्रेस ने प्रताड़ित करने का कोई प्रयास न किया हो. इसके साथ केंद्रीय मंत्री ने कहा,’लेकिन हम संकल्पबद्ध हैं कि भाजपा के कार्यकर्ता केवल अमेठी में ही नहीं पूरे देश में पूरी निष्ठा के साथ काम करेंगे. मुझे उकसाया गया था साल 2014 में, अपमानित किया गया था और मैंने तब एक वचन दिया था लोगों को कि मैं अमेठी की सीट जीतकर रहूंगी 19 में. प्रभु की असीम कृपा रही कि मेरे मुख से निकला हुआ वो शब्द साकार हुआ, सफल हुआ.

इसके साथ केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा,’कांग्रेस अगर प्रताड़ित करती रहेगी तो अमेठी का कार्यकर्ता सुनिश्चित करेगा कि साल 2024 में लोकसभा के चुनाव में रायबरेली की सीट पर भारतीय जनता पार्टी का कमल खिलेगा. स्मृति के बयान और बागी विधायक अदिति के इस तेवर से रायबरेली में सोनिया की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं.

भाजपा से अदिति सिंह की नजदीकी और…
बता दें की रायबरेली की विधायक अदिति सिंह ने पिछले दिनों कहा था कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मेरे राजनीतिक गुरु हैं, उनसे मेरी बात हो गयी है. उन्होंने जांच के बाद न्याय का आश्वासन दिया है. उन्‍होंने सिविल लाइंस में दुकानदारों से जमीन खाली कराने के मुद्दे पर सीएम से बातचीत की थी.

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

[responsive-slider id=1864]

Related Articles

Close
Avatar