नई दिल्ली./ उत्तराखंड में आई जलप्रलय के बाद अब शुक्रवार को एक बार फिर भूकंप ने आधे देश को हिला दिया.नई दिल्ली./ उत्तराखंड में आई जलप्रलय के बाद अब शुक्रवार को एक बार फिर भूकंप ने आधे देश को हिला दिया. उत्तर प्रदेश हेड अजय शुक्ला की रिपोर्ट न्यूज़ 11इंडिया टीवी

नई दिल्ली. उत्तराखंड में आई जलप्रलय के बाद अब शुक्रवार को एक बार फिर भूकंप ने आधे देश को हिला दिया. जम्मू से लेकर उत्तर प्रदेश और राजस्‍थान से लेकर बिहार तक धरती ऐसी डोली की लोग सहम गए. भूकंप के तेज झटके राजस्‍थान, हरियाणा, दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद, हिमाचल प्रदेश के कई जिलों के साथ ही पटना तक महसूस किए गए. हालात ये रहे कि लोग अपने घरों से बाहर निकल आए.
भूकंप के झटके एक मिनट से लेकर दो मिनट तक तीन बार महसूस किए गए. तीनों ही झटके रुक रुक कर आए. हालांकि शुरुआती झटके आने के बाद ही लोग सुरक्षित स्‍थानों की तलाश में घरों और दफ्तरों के बाहर निकल आए.
3 से लेकर 6.1 रिक्टर स्केल तक तीव्रता
जानकारी के अनुसार भूकंप की तीव्रता 3 से लेकर 6.1 तक मापी गई है. इस दौरान पंजाब, हरियाणा और हिमाचल में तीव्रता काफी अधिक मापी गई. नेशनल सेंटर फॉर सिस्मोलॉजी के अनुसार अभी भूकंप के और झटके महसूस किए जा सकते हैं. ऐसे में लोगों को सावधान रहने की काफी जरूरत है.
भूकंप के झटके महसूस होने के साथ ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सभी के सुरक्षित होने की कामना की है. साथ ही सभी लोगों को सावधानी बरतने और ध्यान रखने की सलाह दी है.
24 घंटे में दूसरी बार
जानकारी के अनुसार भूकंप के झटके इससे पहले शुक्रवार को ही दिन में बीकानेर में महसूस किए गए थे. उस दौरान इसकी तीव्रता 4.3 मापी गई. भूकंप का केंद्र बीकानेर से 420 किमी. दूर उत्तर पश्चिम में बताया गया है. पहले आया भूकंप भारतीय समयानुसार सुबह 8:01 बजे आया था.
दिल्ली-एनसीआर संवेदनशील इलाका
भूकंप के झटकों को लेकर दिल्ली-एनसीआर का इलाका काफी संवेदनशील है. भूवैज्ञानिकों ने इस इलाके को जोन 4 में रखा हुआ है. इस क्षेत्र में माना जा रहा है कि 7.9 तीव्रता का भूकंप भी आ सकता है, यदि ऐसा होता है तो बड़े पैमाने पर नुकसान होने की आशंका है. भूवैज्ञानिकों ने भारत को 5 जोन में बांट रखा है. इसमें सबसे खतरनाक जोन 5 है जिसमें 9 तीव्रता तक के भूकंप आ सकते हैं. इसमें पूर्वोत्तर भारत, कश्मीर का कुछ हिस्सा, हिमाचल, उत्तराखंड और गुजरात का कच्छ का रन, अंडमान निकोबार शामिल हैं.

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

[responsive-slider id=1864]

Related Articles

Close
Avatar