नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनावों को लेकर मामला गर्म हो रहा है.

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनावों को लेकर मामला गर्म हो रहा है. हाईकोर्ट के आदेश के बाद सरकार और चुनाव आयोग 30 अप्रैल से पहले चुनाव कराने के लिए जोरो-शोरो से जुट गया है. वहीं, प्रत्याशी भी अपने स्तर कमर कसने लगे हैं. पोस्टर छपने लगे हैं, तो कहीं-कहीं समीकरण भी बनने लगे हैं. हालांकि, आरक्षण सूची के इंतजार अभी तक प्रत्याशी खुल कर बोलने में हिचक रहे हैं. लेकिन उत्साह में कोई कमी नहीं देखने को मिल रही है. आप सोच रहें होंगे कि आखिर सरकार प्रधानों को कितना पैसा देती है कि इस कदर की आपाधापी मची रहती है. आइए जानते हैं….

ग्राम प्रधान (Gram Pradhan Salary)
दरअसल, पंचायत चुनाव तीन स्तरीय होता है.

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

[responsive-slider id=1864]

Related Articles

Close
Avatar