24 अप्रैल से पहले प्रदेश में पंचायत चुनाव खत्म हो जाएंगे.

लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में होने वाले पंचायत चुनाव 2021(Panchayat Election 2021) को लेकर डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा (Deputy CM Dinesh Sharma) ने एक बड़ा बयान दिया है. शर्मा ने रायबरेली (Rae Bareli) में कहा कि 24 अप्रैल से पहले प्रदेश में पंचायत चुनाव खत्म हो जाएंगे. दिनेश शर्मा से पूछा था कि बोर्ड परीक्षाओं और पंचायत चुनाव की तिथियां ओवरलैप होने की स्थिति में क्या बोर्ड परीक्षाओं की तिथि आगे बढ़ाई जाएगी. इसके जवाब में डिप्टी सीएम ने कहा कि पंचायत चुनाव के खत्म होने के बाद यूपी बोर्ड की परीक्षाएं कराई जाएंगी.

यूपी बोर्ड की परीक्षाएं 24 अप्रैल से शुरू होने वाली हैं. ऐसे में 24 अप्रैल से पहले ही प्रदेश में पंचायत चुनाव खत्म कर लिए जाएंगे. 24 अप्रैल से पहले पंचायत चुनाव खत्म करने के लिए राज्य निर्वाचन आयोग को कड़ी मशक्कत करनी पड़ेगी. इसके अलावा भी चुनावी प्रक्रिया को पूरा करने के लिए एक निश्चित समय सीमा निर्धारित करना पड़ता होता है.

Ayodhya News: राम मंदिर निर्माण के लिए अबतक मिला 1590 करोड़ का चंदा, ट्रस्‍ट ने दी जानकारी

ऐसा माना जाता है कि चुनाव कराने के लिए राज्य निर्वाचन आयोग के पास कम से कम 40 दिन का समय होना चाहिए. 2015 में हुए पंचायत चुनाव या इससे पहले हुए पंचायत चुनाव में कम से कम 36 से 37 दिन लगे हैं. जाहिर है कि इस साल भी कितनी भी जल्दी की जाए तो कम से कम इतना समय तो लगेगा ही. ऐसे में निर्वाचन आयोग के अफसर ऐसी चुनावी समय सारणी बनाने के लिए जद्दोजहद कर रहे हैं, जिससे बिना बोर्ड परीक्षाओं के टाले चुनाव करा लिए जाए.

राज्य सरकार के आदेशों के मुताबिक 15 मार्च तक आरक्षण की सूची जारी की जानी है. आरक्षण की सूची जारी करने के बाद राज्य निर्वाचन आयोग चुनाव की अधिसूचना जारी करेगा. ऐसे में यदि 16 मार्च भी चुनाव की अधिसूचना जारी करने की तारीख मानी जाए तो चुनाव खत्म होते-होते अप्रैल का आखिरी हफ्ता आ जाएगा. अब सवाल उठता है कि राज्य निर्वाचन आयोग और सरकार कहां समय बचा सकती है जिससे 24 अप्रैल से पहले पंचायत चुनाव खत्म कराए जा सकें.

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

[responsive-slider id=1864]

Related Articles

Close
Avatar