चित्रकूट *आईजी महोदय द्वारा जनपद के समस्त राजपत्रित अधिकरी एवं प्रभारी निरीक्षकों के साथ गोष्ठी की गयी*

चित्रकूट
*आईजी महोदय द्वारा जनपद के समस्त राजपत्रित अधिकरी एवं प्रभारी निरीक्षकों के साथ गोष्ठी की गयी*

*आज दिनांक 18.02.2021 को पुलिस महानिरीक्षक चित्रकूटधाम परिक्षेत्र बांदा श्री के सत्यनारायाणा द्वारा पुलिस अधीक्षक चित्रकूट श्री अंकित मित्तल की उपस्थिति में राघव प्रेक्षागार पुलिस अधीक्षक कार्यालय में जनपद के समस्त राजपत्रित पुलिस अधिकारी व समस्त प्रभारी निरीक्षकों के साथ गोष्ठी की गयी।*
महोदय द्वारा सर्वप्रथम पुलिस पेशनर्स के साथ वार्ता कर उनके स्वास्थ्य के सम्बन्ध में जानकारी ली गयी एवं कहा गया कि व्यायाम निरन्तर करते रहे। सभी पेन्सनर्श से समस्याओं के सम्बन्ध में जानकारी ली गयी। सभी को बताया गया कि गांव में होने वाले लड़ाई झगड़ों से दूर रहें । किसी भी प्रकार के अवैध कार्यों से सम्बन्धित सूचना पुलिस को दें। सभी पेन्सनर्श को पुलिस के साथ समन्वय स्थापित करने हेतु कहा गया। इस दौरान समस्त प्रभारी निरीक्षकों को निर्देशित किया गया कि पुलिस पेंशनर्स का सम्मान करें व थानों पर आने वाले पुलिस पेंशनर्स को सम्मान देकर बैठायें व पानी के लिये अवश्य पूंछे तथा उनकी समस्या का प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण करायें।
2. ह्यूमन ट्रैफिकिंग/मानव तस्करी की कार्यशाला पावर प्रेजेन्टेशन के माध्यम से प्रोजेक्टर पर किया गया। इसमें समस्त प्रभारी निरीक्षकों श्री अनिल सिंह यूनिसेफ महिला कल्याण एवं बाल कल्याण द्वारा किशोर इकाई व जिला बाल संरक्षण इकाई व किशोर न्याय बोर्ड के सम्बन्ध में जानकारी दी गयी । इस दौरान बताया गया कि बच्चों को भागीदारी का अधिकार दें व उनकी बातों को अवश्य सुनें। बालश्रम/बालविवाह से सम्बन्धित बच्चों को प्रत्यक्ष रूप से परिजनों के सुपुर्द न करें बल्कि इनको चाइल्ड लाइन 1098 पर सूचित कर 1098 के अधिकारियों के सुपुर्द करें।
*महोदय द्वारा सर्वप्रथम गोष्ठी के दौरान समस्त प्रभारी निरीक्षकों से उनका परिचय लिया गया तथा निम्नलिखित आदेश निर्देश दिये गये।*
*1.* वर्ष भर में किये गये कार्यों का स्वंय मंथन करने हेतु निर्देशित किया गया कि आपने क्या कार्य किया है।
*2.* महिला आरक्षियों को महिला आवेदिकाओं के प्रति स्वतंत्र करें जिससे महिला आरक्षी आवेदिकाओं से उनकी समस्याओं को ठीक प्रकार से सुनें व समझ सके तथा आवेदिकाओं को सन्तुष्ट कर सकें।
*3.* महिला सम्बन्धी अपराधों के घटना स्थल पर महिला आरक्षियों को अवश्य ले जायें।
*4.* गैंग की रोकथाम हेतु समस्त थाना प्रभारी पूर्ण प्रयास करें व गैंग के सम्बन्ध में जानकारी करने का प्रयास करें एवं जानकारी मिलने पर पुलिस अधीक्षक को सूचित करें। यह न समझे कि गैंग हमारे थाना क्षेत्र से सम्बन्धित नहीं है।
*5.* टाप टेन अपराधियों की सूची को अद्यावधिक करते रहें तथा उनके सम्बन्ध में पूर्ण सूचना संकलित करें कि उनके आय के क्या स्त्रोत हैं, परिवारीजन क्या कर रहे हैं। इनकी गतिविधियों पर पूर्णतयः निगरानी की जाये।
*6.* चोरी/डकैती व नकबजनी करने वाले अपराधियों का डोजियर बनाया जाये।
*7.* टाप टेन अपराधियों में उन्हीं अपराधियों को सम्मिलित किया जाये जो अपराध वर्तमान में कर रहे हों।
*8.* अपने थाने पर उ0नि0 व आरक्षियों के साथ प्रतिदिन गणना पर उनका कार्य आवंटित करें तथा अपराधियो के सम्बन्ध में वार्ता करें एवं अपराधियों की स्वयं पूर्ण जनकारी रखें।
*9.* अवैध शराब/गांजा/शस्त्र व जुआं ये सब सामाजिक अपराध हैं। यह अपराध समाज को बहुत प्रभावित करते हैं । इस पर पूर्णतयः रोक लगाये जाने हेतु निर्दशित किया गया।
*10.* व्यक्तिगत अपराध में पुलिस का कार्य विवेचना करना है, विवेचना में किसी को अनावश्यक न परेशान किया जाये । विवेचना निष्पक्ष एवं सत्यता के आधार पर की जाये। पीडित परिवार पर कोई दबाव न डाला जाये व साक्ष्य संकलन विधिसंगत तरीकों से किया जाये ।
*11.* समय का उपयोग करें व सप्ताह में एक दिन नियत करें जिसमें समस्त प्रभारी निरीक्षक सभी उ0नि0 से विवेचना के सम्बन्ध में विस्तृत वार्ता करें एवं इसमें लम्बित प्रार्थना पत्र/आईजीआरएस व सम्मन वारण्ट के बारे में भी समीक्षा की जाये।
*12.* महोदय द्वारा काज लिस्ट के बारे में बताते हुये कहा गया कि काज लिस्ट में देखें कि अपराधी की तारीख कब है। इसके सम्बन्ध में कोर्ट मुहर्रिर/पैरोकार से वार्ता प्रतिदिन करें।
*13.* प्रत्येक रविवार थानों में श्रम दान का कार्य किया जाये जिससे थानों की साफ-सफाई उच्च स्तर की बनी रहे। थानों में खड़ें वाहनों पर मुकदमा अपराध संख्या अवश्य अंकित करें।
*14.* थानों पर आने वाले प्रत्येक व्यक्ति को सम्मान अवश्य दें व उसकी समस्या सही तरीके से सुने व उससे पानी के लिये अवश्य पूंछे। कोशिस करे कि आवेदक को थानास्तर पर ही संतुष्ट किया जाये।
*15.* दिवसाधिकारी व रात्रि अधिकारी अवश्य बनायें। थाना कार्यालय के बाहर व्हाइट बोर्ड लगाकर दिवसाधिकारी व रात्रि अधिकारी का नाम अवश्य अंकित करायें।
*16.* महोदय द्वारा कहा गया कि पुलिस की छवि सुधारने में प्रभारी निरीक्षकों का बहुत महत्वपूर्ण स्थान है।
*17.* गुमशुदगी/लावारिस शव की फोटो एवं उनका विवरण डीसीआरबी के माद्ययम से रेंज कार्यालय अवश्य भिजवायें जिससे रेंज के समस्त थानों में उसकी शिनाख्त/तस्दीक करायी जा सके।
मीटिंग के दौरान अपर पुलिस अधीक्षक श्री शैलेन्द्र कुमार राय, क्षेत्राधिकारी नगर श्री शीतला प्रसाद पाण्डेय, क्षेत्राधिकारी राजापुर श्री रामप्रकाश, सीए पुलिस महानिरीक्षक चित्रकूट धाम परिक्षेत्र बांदा, पेशकार पुलिस उपमहानिरीक्षक चित्रकूटधाम बांदा, प्रधान लिपिक/वाचक/स्टेनों पुलिस अधीक्षक, प्रतिसार निरीक्षक व समस्त प्रभारी निरीक्षक उपस्थित रहें।
News ११ india tv से उप सम्पादक रमेश रैकवार के साथ रामानंद की खास रिपोर्ट

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

[responsive-slider id=1864]

Related Articles

Close
Avatar