चित्रकूट श्रीमान पुलिस महानिरीक्षक महोदय द्वारा पुलिस लाइन चित्रकूट में परेड की सलामी लेकर परेड का किया निरीक्षण

चित्रकूट
श्रीमान पुलिस महानिरीक्षक महोदय द्वारा पुलिस लाइन चित्रकूट में परेड की सलामी लेकर परेड का निरीक्षण किया एवं पुलिस लाइन में परिवहन शाखा, शस्त्रागार, वर्दी स्टोर, जिला नियंत्रण कक्ष, डायल 112, गणना कार्यालय, कैश कार्यालय का वार्षिक निरीक्षण कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिये-*

आज पुलिस महानिरीक्षक चित्रकूटधाम परिक्षेत्र बांदा श्री के सत्यनारायाणा द्वारा पुलिस अधीक्षक चित्रकूट श्री अंकित मित्तल की उपस्थिति में पुलिस लाइंस परेड की सलामी लेकर परेड का निरीक्षण किया गया । महोदय द्वारा परेड के निरीक्षण के दौरान रिक्रूट आरक्षियों की वर्दी ठीक करवाने हेतु निर्देशित किया गया । आरटीसी की ड्रिल देखी गई परेड में उपस्थित डाग स्क्वायड का निरीक्षण किया गया एवं डॉग हेंडलर से ड्यूटी के संबंध में पूछा गया एवं डॉग की डाइट के संबंध में जानकारी ली गई । तत्पश्चात परेड में उपस्थित सस्पेंड टोली का निरीक्षण किया गया एवं उनसे सस्पेंशन का कारण पूछा गया तथा यह भी पूछा गया कि आप कब से सस्पेंड हैं ।
तत्पश्चात परिवहन शाखा का वार्षिक निरीक्षण किया गया, परेड में आए हुए डायल 112 की टू व्हीलर एवं फोर व्हीलर के कर्मियों से पूछा गया कि आपने क्या-क्या गुड वर्क किया है तथा पीआरवी के पास मौजूद एमडीटी को चेक किया गया तथा जानकारी ली गई कि किस प्रकार से इवेंट्स प्राप्त होते हैं एवं किस प्रकार से रिस्पांस किया जाता है । पीआरवी कर्मियों से पूछा गया कि क्या फर्जी कॉल भी रिसीव होते हैं । महोदय द्वारा पीआरवी फोर व्हीलर में दंगा नियंत्रण उपकरण, फर्स्ट एड बॉक्स एवं क्राइम सीन से संबंधित किट को खुलवाकर देखा गया । वाहनों की हूटर, इंडिकेटर, फ्लैशलाइट, वाइपर इत्यादि जलवा कर देखा गया। महोदय द्वारा क्राइम सीन की किट को पूर्ण रूप से खुलवा कर देखा गया एवं क्राइम सीन पर किस प्रकार से इस किट का इस्तेमाल किया जाता है इसके लिए क्राइम सीन बनाने के लिए निर्देशित किया गया। मौके पर मौजूद मारकुंडी की पीआरवी टीम गैंग कर्मियों से गैंग से संबंधित गतिविधियों की सूचना के संबंध में जानकारी ली गई तथा पूछा गया कि जनपद में गौरी गैंग के अलावा कोई अन्य गैंग तो सक्रिय नहीं है छोटे मोटे अन्य किसी गैंग के होने की सूचना तो नहीं प्राप्त होती है । पिछले एक सप्ताह में किस प्रकार की सूचना प्राप्त हुई है एवं इन में क्या कार्यवाही की गई है इसके लिए महोदय द्वारा पीआरवी कर्मियों के पास उपस्थित रजिस्टर को चेक किया गया । पीआरवी कर्मियों के पास मौजूद फायर सिलेंडर को चेक किया गया तथा मुख्य अग्निशमन अधिकारी को निर्देशित किया गया कि इसके इस्तेमाल की पूर्ण विधि पीआरवी कर्मियों को बताएं ।
तत्पश्चात एसआई एमटी को निष्प्रयोज्य पड़े सामान को कंडम करवाने की प्रक्रिया के संबंध में जानकारी ली गई। परिवहन शाखा में कुल कितने कंडम टायर है, इसकी जानकारी ली गई दीमक लगी बिल्डिंग में प्रतिसार निरीक्षक को निर्देशित किया कि यह पेंट लगवा कर इसे ठीक करवाया जाए गाड़ियों की मरम्मत रजिस्टर का अवलोकन किया गया । जिसमें वाहनों की करायी गयी मरम्मत की रजिस्टर में एंट्री देखी गई । कन्डम रजिस्टर से क्रॉस चेक किया गया की लॉग बुक में इसकी एंट्री की गई है या नहीं । आयल रजिस्टर का मिलान स्टॉक रजिस्टर से करवाया गया एवं डीजल का मिलान स्टॉक बुक से करवाया गया । एसआई एमटी को निर्देशित किया गया कि थानों से जो वाहन आते हैं उनकी मीटर रीडिंग स्वयं देखें तथा यह भी पूछा गया कि क्या किसी ड्राइवर की लापरवाही के संबंध में अपने उच्चाधिकारियों को रिपोर्ट प्रेषित की है या नहीं ।
महोदय द्वारा निरीक्षण के दौरान क्वार्टर गार्द में सलामी लेकर शस्त्रागार का वार्षिक निरीक्षण किया गया । इस दौरान महोदय द्वारा वर्ष 2020 का फायरिंग रजिस्टर का अवलोकन किया गया जिसमें देखा गया कि कुल कितने कर्मचारियों ने वार्षिक फायरिंग की है एवं कितने फायर किए हैं तथा यह निर्देशित किया गया की वार्षिक फायरिंग के दौरान कर्मचारियों द्वारा की जाने वाली फायरिंग के लिए उन्हें उनके द्वारा किए गए फायर के अनुसार अंक प्रदान करें जिससे अच्छे फायरर को चिन्हित किया जा सकें एवं इन अच्छे फायर की एक टीम बनाई जा सके महोदय द्वारा निरीक्षण के दौरान देखा गया कि थाना पुलिस पीआरबी 112 के कर्मियों एसपी ऑफिस में नियुक्त पुलिसकर्मियों एवं अभियोजन कार्यालय में नियुक्त पुलिसकर्मियों द्वारा वार्षिक फायरिंग की जा रही है अथवा नहीं जिसमें पाया गया कि सभी लोगों द्वारा फायरिंग की जा रही है । कारतूसों का स्टॉक रजिस्टर चेक किया गया जिसमें देखा गया कि किस-किस राइफल के कितने कितने कारतूस हैं कारतूस ओके प्राप्ति संबंधी रजिस्टर का अवलोकन किया गया जिसमें देखा गया कि कहां कब कितने कारतूस प्राप्त हुए हैं। शस्त्रागार के निरीक्षण के दौरान महोदय द्वारा शस्त्रागार में रखें विभिन्न प्रकार के फायरिंग सेल का अवलोकन किया गया जैसे चिली बम, टियर स्मोक कैंडल, रबड़ बुलेट इत्यादि। महोदय द्वारा शस्त्रागार में रखे नाइट विजन का अवलोकन किया गया एवं प्रतिसार निरीक्षक को निर्देशित किया गया कि जंगल वाले थानों को नाइट विजन प्रदान किए जाएं इस दौरान प्रतिसार निरीक्षक से पूछा गया कि थानों में शस्त्रों का मिलान कब कब करवाया गया है।
तत्पश्चात महोदय द्वारा स्टोर का वार्षिक निरीक्षण किया गया । महोदय द्वारा स्टोर मुहर्रिर को निष्प्रयोज्य पड़े हुए टेंट को कंडम करवाने हेतु निर्देशित किया गया। स्टोर में कंडम पड़े सामान को ठीक करवाने हेतु निर्देशित किया गया । इसमें बताया गया कि जो सामान प्रयोग में लाया जा सकता है उसकी मरम्मत करवाकर उसे ठीक करवा लिया जाए तथा स्टोर मोहर्रिर से पूछा गया कि थानों से जीपी लिस्ट का मिलान कब कब किया गया है।
तत्पश्चात महोदय द्वारा गणना कार्यालय का वार्षिक निरीक्षण किया गया । जिसमें पिछले 3 माह में जिला जज महोदय के गार्द में कौन-कौन कर्मी ड्यूटी पर लगे रहे इसका अवलोकन किया गया जिस पर गणना मुंशी द्वारा रजिस्टर अच्छे ढंग से बनाए जाने पर महोदय द्वारा उनकी सराहना करते हुऐ उसे पुरस्कृत करने की घोषणा की गयी। तत्पश्चात महोदय द्वारा कैश कार्यालय का निरीक्षण कर कैश बुक का अवलोकन किया गया । किसी अधि0/कर्मचारी पर बकाया के शीघ्र बरामदगी हेतु निर्देशित किया गया । पूर्व में पुलिस लाइन रहे आर आई श्री प्रमोद प्रमोद कुमार दुबे द्वारा मैस एडवांस का बकाया का भुगतान नहीं किया गया जिस पर उनके संबंधित पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखकर उनके वेतन रुकवाने हेतु निर्देशित किया गया । महोदय द्वारा आर0ओ0, कैंटीन से कितना कितना धन आता है इसका अवलोकन किया गया।
तत्पश्चात महोदय द्वारा पुलिस लाइन में प्रशिक्षणाधीन रिक्रूट आरक्षियों के अन्तः विषयों के क्लास रूम में भ्रमण कर रिक्रूट आरक्षियों से पूछा गया कि ट्रेनिंग कब से चल रही है तथा क्या-क्या सीखा एवं महोदय द्वारा रिक्रूट आरक्षियों से पूछा गया कि भर्ती से पहले व भर्ती के बाद क्या क्या बदलाव महसूस कर रहे है । महोदय द्वारा रिक्रूट आरक्षियों को बताया गया कि फिजिकल फिटनेस अधिक से अधिक करें जिससे आपका शरीर एकदम मजबूत हो जाए इसी ट्रेनिंग के आधार पर आपको 60 वर्ष की उम्र तक नौकरी करनी है । महोदय द्वारा पूछा गया कि अब सबके दिमाग में होना चाहिए कि मैं सिपाही हूं आपको क्या करना है ये दिमाग में चलते रहना चाहिये।
तत्पश्चात महोदय द्वारा डायल 112 के R O आईपी कार्यालय का निरीक्षण किया गया इस दौरान महोदय द्वारा देखा गया कि डायल 112 मुख्यालय लखनऊ से इवेंट कितने समय पर प्राप्त होता है तथा पीआरवी कर्मी तक कितने समय में भेज दिया जाता है तथा पीआरवी कर्मी द्वारा उस पर कितने समय में रिस्पांस किया जाता है । महोदय द्वारा पिछले महीने कुल कितने कॉल इवेंट प्राप्त हुए हैं इसे देखा गया।
तत्पश्चात जिला नियंत्रण कक्ष का निरीक्षण कर उनसे पूछा गया कि यहां क्या-क्या कार्य किया जाता है। इस दौरान महोदय द्वारा रात्रि गश्त चेकिंग अधिकारी से संबंधित रजिस्ट्रों का अवलोकन किया गया । महोदय द्वारा पूछा गया कि बैट्री खराब होने पर उसके कंडम की कार्यवाही किस प्रकार से की जाती है तथा अब तक कितनी खराब बैट्रियों की कंडम की कार्यवाही की गई है, कंट्रोल रूम के स्टॉक रजिस्टर का अवलोकन किया गया।
परेड एवं निरीक्षण के दौरान अपर पुलिस अधीक्षक श्री शैलेंद्र कुमार राय, क्षेत्राधिकारी नगर श्री शीतला प्रसाद पाण्डेय, क्षेत्राधिकारी राजापुर श्री राम प्रकाश, सीए बाबू आईजी महोदय, प्रतिसार निरीक्षक श्री सुमेर सिंह, पीआरओ पुलिस अधीक्षक श्री जयशंकर सिंह, डायल 112 प्रभारी श्री आर0के0 सिंह, स्टेनो श्री कमलेश कुमार राव एवं अन्य अधि0/कर्मचारीगण उपस्थित रहे ।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

[responsive-slider id=1864]

Related Articles

Close
Avatar