गुवाहाटी भारत का लड़ाकू विमान तेजस अब और ज्यादा खतरनाक हो चुका है क्योंकि इसमें नया रडार लगाया गया है जिससें एकसाथ 100 टारगेट पर नजर रखी जा सकती है

गुवाहाटी

भारत का लड़ाकू विमान तेजस अब और ज्यादा खतरनाक हो चुका है क्योंकि इसमें नया रडार लगाया गया है जिससें एकसाथ 100 टारगेट पर नजर रखी जा सकती है। भारतीय वायुसेना में शामिल होने जा रहे 123 तेजस फाइटर जेट्स में से 51 फीसदी में विमानों में उत्तम एक्टिव इलेक्ट्रॉनिकली स्कैन्ड ऐरे (Active Electronically Scanned Array – AESA) रडार लगाया जा रहा है। इंडियन एयरफोर्स को सबसे पहले 40 तेजस मिलेंगे जिसमें इजरायली रडार लगे हुए हैं।

इसके बाद वायुसेना को जो 83 तेजस मार्क-1ए जेट्स मिलने वाले हैं उनमें उत्तम रडार लगा रहेगा। DRDO के चेयरमैन सतीश रेड्डी ने कहा है कि हमने उत्तम राडार से जो उम्मीद की थी, उसने उससे कहीं ज्यादा बेहतर प्रदर्शन करके दिखाया।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

[responsive-slider id=1864]

Related Articles

Close
Avatar