कानपुर नगर-शुक्रवार दोपहर में नगर निगम प्रवर्तन अधिकारी को गोपनीय सूत्र से पता चला कि सेल्स टैक्स के सचल दस्तों द्वारा दो ट्रक पकड़े गए हैं

कानपुर नगर-शुक्रवार दोपहर में नगर निगम प्रवर्तन अधिकारी को गोपनीय सूत्र से पता चला कि सेल्स टैक्स के सचल दस्तों द्वारा दो ट्रक पकड़े गए हैं जिसमें प्रतिबंधित पॉलीथीन कैरीबैग की भी खेप है। ये ट्रक दिल्ली से कानपुर आए थे।
नगर आयुक्त के आदेश पर प्रवर्तन दल द्वारा सेल्स टैक्स कार्यालय से संपर्क साधा गया और रात भर चौकसी करी कि ट्रक धोखे से बाहर ना निकल जाएं।

ट्रक नंबर यूपी 78डीएन9788 जिसको सचल दस्ते 8 द्वारा पकड़ा गया था उसमें फुटवियर वा अन्य सामान के साथ प्रतिबंधित पॉलीथीन भी थी। पॉलीथीन की मात्रा नही ज्ञात हो पाई है क्योंकि ट्रक पर तिरपाल ढका है जिसको ट्रक मालिक के सामने नगर निगम में खोला जाएगा।

इसी प्रकार सचल दस्ता 5 द्वारा ट्रक नंबर यूपी 78डीएन6018 पकड़ा गया था जिसमें सुपारी की 350 बोरियों के बीच 78 बोरी प्रतिबंधित कैरीबैग छुपाए गए थे। इन पॉलीथिन बैगों का वजन तकरीबन ढाई टन है।

दोनों गाड़ियों पर टैक्स कार्यालय द्वारा अपनी कार्यवाही पूरी होने पर इनको नगर निगम प्रवर्तन दल को 27 मार्च शाम को हैंडओवर कर दिया गया। सुपारी लदी ट्रक से सुपारी उतरवा कर जीएसटी ऑफिस द्वारा अपने यहां रखवा ली गई।

चूंकि दोनों ट्रकों के ड्राइवर भाग गए थे और गाडियां जीपीएस द्वारा लॉक कर दी थीं, इनको नगर निगम लाने के लिए नगर आयुक्त के निर्देश पर नगर निगम वर्कशॉप की टीम, नगर निगम के ड्राइवर, जीपीएस एक्सपर्ट और प्रवर्तन दल ने आपसी सहयोग से इन ट्रकों को अनलॉक कर सेल्स टैक्स ऑफिस से नगर निगम ले आए।

दोनों ट्रकों को फिलहाल नगर निगम परिसर में खड़ा कर दिया गया है और इनके मालिकों से प्रतिबंधित पॉलीथिन का जुर्माना लेकर और कैरी बैगों को जब्त करके ही ट्रकों को छोड़ा जाएगा।

इस अभियान में प्रवर्तन दल के सूबेदार अवधेश, लक्ष्मण, वीरेंद्र स्वरूप, विकास दीक्षित, हवलदार ब्रजेश, जितेंद्र, भूपेंद्र, रामनरेश, धनंजय, शिवजीत, राजेश, राजनारायण, राजस्व निरीक्षक नितेश और वर्कशॉप के राजीव सक्सेना अपनी टीम के साथ मौजूद रहे।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

[responsive-slider id=1864]

Related Articles

Close
Avatar